मंगलवार, 9 दिसंबर 2008

देश में राजनितिक बदलाव की मांग


देश में राजनितिक बदलाव की मांग पर याहू के मुख पृष्ठ पर आज खबर है ।
देश आतंक की राह पर है और जिम्मेदारों को बदल देने की मांग । क्या असल बात यही है की हम सिर्फ कुर्सी को ही टटोलते रहेंगे ?
देश की सुरक्षा पर अमल नहीं करेंगे ।
आप के घर मे आपका भाई गलती करे तो क्या आप गलती सुधरने के बजाय भाई बदल डालते हैं?
गलती सुधारे और लड़ें असल आतंकी तत्वों से राजनीती की जगह नहीं है राष्ट्र की संप्रभुता .........jay hind

2 टिप्‍पणियां:

seema gupta ने कहा…

गलती सुधारे और लड़ें असल आतंकी तत्वों से
" yes you are absolutly right, i agree with this"

Regards

राज भाटिय़ा ने कहा…

अगर भाई गलती करता है तो उसे समझाये, अगर नही समझता तो उसे अकल देने के लिये मै घर से बाहर कर दुंगा, क्योकि एक इंसान के लिये सारे घर को खतरे मै नही डाल सकते.
अगर आप ने नही देखी तो एक बार मदर ईन्डिया फ़िल्म या गगां जमुना फ़िल्म जरुर देखे.
धन्यवाद