शनिवार, 7 फ़रवरी 2009

भारत का सुपर कंप्यूटर अजेया बिग बैंग से सम्बद्ध हुआ

आज शाम भाभा परमाणु अनुसंधान केन्द्र के सुपर कंप्यूटर की टीम के वैज्ञानिक श्री किसलय भट्ट रतलाम में आयोजित की जा रही भारत निर्माण एवं जन सूचना अभियान के अंतर्गत अपना विशिष्ट विडियो प्रदर्शन लेकर प्रस्तुत हुए । अपने इस प्रदर्शन में उन्होंने स्रष्टि निर्माण के पहलु को लेकर स्थापित लार्ज हेड्रोन कोलाईडर के लिए भारतीय वैज्ञानिकों द्वारा की जा रही भागीदारी के सम्बन्ध में बताया। भारतीय वैज्ञानिकों द्वारा अजेया सुपर कंप्यूटर का निर्माण किया गया है इस कंप्यूटर के निर्माण में जिस दल को गोल्ड मैडल हासिल हुआ है श्री किसलय भट्ट उसी दल के सदस्य हैं । उन्होंने बताया : - फ्रांस और स्वीटज़रलैंड में स्थापित बिग बैंग प्रयोगशाला को उनका दल मदद कर रहा है। अखबारों में छपी भ्रांतियों का खंडन करते हुए उनका कहना था की इस प्रयोग में हिग्स पार्टिकल की खोज जारी है जिसका सम्बन्ध ब्रम्हांड की उत्पत्ति के रहस्यों से जुड़ा है ।

कार्यक्रम में नगर के प्रबुद्ध नागरिक उपस्थित हुए। अध्यक्षीय उद्बोधन पंडित बाबुलालजी जोशी ने दिया । कार्यक्रम के अतिथि नगर विधायक पारस सखलेचा थे। भारत निर्माण अभियान के श्री मधुकर पवार ने अतिथि परिचय दिया। और संचालन दायित्व को मुझे वहन करना था।

विगत दिनों ब्रह्माण्ड उत्पत्ति के संबंद में पहले भी अपनी पोस्ट में लिखा था। इस कार्यक्रम ने कई प्रश्नों का समाधान किया। न्यूक्लियस की संरचना से सम्बद्धता का यह महाप्रयोग अपनी विशिष्टता तो रखता ही है मगर साथ ही साथ भारत द्वारा निर्माण किए गए कंप्यूटर अजेया की इस महा प्रयोग से सम्बद्धता ने अपनी धाक से प्रभावित किया जो आप पाठको और ब्लॉग लेखकों को भारत के गौरव के प्रति उद्वेलित करेगा ।

3 टिप्‍पणियां:

अनुनाद सिंह ने कहा…

जानकारी अच्छी लगी। लेकिन "अजेय" पर और अधिक जानकारी दी गयी होती तो बेहतर होता।

seema gupta ने कहा…

स्रष्टि निर्माण जैसे विषय पर सोचने से ही एक रोमांच का अनुभव होता है की ये सब कैसे हुआ होगा....ये एक गूढ़ रहस्य है इस विषय पर जानकारी प्रस्तुत करने का आभार "

Regards

hem pandey ने कहा…

'अजेय' के कारण भारत का गौरव बढ़ा है. अच्छा लगा.