सोमवार, 9 फ़रवरी 2009

भारत का स्वदेशी महाकम्प्यूटर "अजेया"

जो जानकारी मुझे हासिल है इसके सम्बन्ध में वो यह है की भाभा परमाणु अनुसंधान केन्द्र द्वारा सुपर कम्पूटर का निर्माण इसलिए हुआ क्योंकि भारत एक परमाणु शक्ति संपन्न देश है और इस वजह से विश्व के कंप्यूटर निर्माता हमें तकनिकी सहयोग नही देना चाहते थे ।
भारतीय वैज्ञानिकों को यह चुनौती के रूप में लेना पडा था और सुपर कंप्यूटर का निर्माण हुआ । सुपर कंप्यूटर के मामले में विश्व के बेहतरीन कम्प्यूटरों में अब इसकी गिनती है । कंप्यूटर के निर्माण के बाद तकनिकी क्षेत्र में भारत अब नए मुकाम पर है । अजेया कम्पूटर निर्माण से सम्बंधित जो जानकारी मुझे श्री किसलय भट्ट जी के मध्यम से मालुम हुई उस अनुसार भारतीय वैज्ञानिकों के दल ने जिसमे वे ख़ुद भी शामिल हैं को स्वर्ण पदक प्राप्त हुआ है और इसकी उन्नत तकनिकी की वजह से इसका उपयोग बिग बैंग जैसे महा प्रयोग का डाटा लेने में किया जा रहा है । दुनिया भर के ३५ देश जिस प्रयोग से सम्बद्ध है उसमे सम्पूर्ण स्वदेशी महा कंप्यूटर अजेया का शामिल होना निश्चित तौर पर सम्मानजनक है ।

3 टिप्‍पणियां:

राज भाटिय़ा ने कहा…

भारत का स्वदेशी महाकम्प्यूटर "अजेया"" पर हमे भी मान है, लेकिन यह खोज जो कर रहे है इस से कुछ भी हासिल नही होने वाला.
धन्यवाद

Science Bloggers Association of India ने कहा…

जानकारी के लिए आभार। अच्‍छा हो यदि आप इस कम्‍प्‍यूटर के बारे में एक डिटेल पोस्‍ट भी लिखें।

विनीता यशस्वी ने कहा…

achhi jankari uplabdha karayi hai apne...