शुक्रवार, 27 फ़रवरी 2009

धूम मचा ले

बरफ नहीं शैतान यहाँ
मस्ती की धूम है
चल आई होली
पकड़म पाटी खेल ले

4 टिप्‍पणियां:

शोभा ने कहा…

हा हा हा बहुत बढ़िया।

संगीता पुरी ने कहा…

अच्‍छा लगा...

राज भाटिय़ा ने कहा…

बहुत खुब,
धन्यवाद

Science Bloggers Association ने कहा…

वाह क्‍या बात है, चित्र और कविता दोनों शानदार।