शुक्रवार, 6 फ़रवरी 2009

पंचतत्व



धरती पर पञ्चतत्वों को महसूस किया जा सकता है , इस निगाह से भी

यहाँ भूमि है , लावा आग लिए, जल है , वायु वाष्प रूप में

और द्रश्य आसमान से

कोई टिप्पणी नहीं: