बुधवार, 11 फ़रवरी 2009

पैसा ये कैसा ?


7 टिप्‍पणियां:

विनीता यशस्वी ने कहा…

maza aa gay....

bhai ajkal to paisa hi sab kuchh ho gaya hai

seema gupta ने कहा…

' ha ha ha ha haha mind blowing"

Regards

रंजन ने कहा…

ये ऐसा ही है पैसा..

Science Bloggers Association of India ने कहा…

Shaandaar.

विष्णु बैरागी ने कहा…

पैसा पेड पर लगता है। लालची पेड पर टंगता है।

राज भाटिय़ा ने कहा…

बहुत खुब

M.P.Birds ने कहा…

paryaavaran ki drashti se dekhen to hakikat bhi yahi hai ki marte dam par hi ped kaa mol samajh aayegaa