बुधवार, 24 जून 2009

आ देखें ज़रा

एक कमरे में बंद थे
कुछ चबाये जा रहे थे
खुश भी थे
की एक राहगीर वहाँ से चलते गुजरा
और उसे याद आया एक गाना
हम तुम एक कमरे में बंद हों और चाबी खो जाए
पता चला यह गाना इन्ही ने लिखा था जो फिल्माया गया था
जैसे ही बीते दिन याद आए
ये जनाब कूद पड़े हैं
पर यहाँ पानी चुल्लू भर जो नही
आगे क्या होता है
आ देखें ज़रा .........

6 टिप्‍पणियां:

Nirmla Kapila ने कहा…

haa ha ha bahut khoob

ओम आर्य ने कहा…

behatrin...........

राज भाटिय़ा ने कहा…

मुझे लगता है यह तो समुंदर मै कुद गये, अरे जाओ यार उसे बचाओ फ़ोटू बाद मे खींच लेना...:)

seema gupta ने कहा…

हा हा हा हा हा हा बेहद रोचक.....

regards

Abhishek Mishra ने कहा…

Salike se joda hai aapne tasviron ko.

Udan Tashtari ने कहा…

चलो, देखें जरा!