शनिवार, 4 जुलाई 2009

समीर जी की बेनामी बाबा को समर्पित


2 टिप्‍पणियां:

महेन्द्र मिश्र ने कहा…

बेनामी बाबा तो कचरे से ढंके से बैठे है हा हा हा

Ratan Singh Shekhawat ने कहा…

बेनामी बाबाओं के लिए यही सही जगह है |