बुधवार, 8 जुलाई 2009

हेल्लो भिया ..... बाँध दी है .... हाँ आकर देख लो




बिल्ली के गले में घूँघरू वाली घंटी और नही तो क्या ?
कहावत झूठी भी तो करनी जो थी