बुधवार, 30 दिसंबर 2009

स्वागत 2010




आसमान की रौशनी

उम्मीद की किरण

प्रकृति के नज़ारे

मन का हिरन

स्वागत २०१०

आलोकित कर जीवन

धन, उत्साह की कर भरपूर वर्षा

दौड़े दिमाग घोड़े सा

लिखू दोस्तों को जब अपना पत्र

उन्हें सदा लगे अपना सा

1 टिप्पणी:

श्यामल सुमन ने कहा…

उम्मीदों की नयी किरण संग नया साल आया है।
नया सीखना बीते कल से क्या खोया क्या पाया है।।

सादर
श्यामल सुमन
09955373288
www.manoramsuman.blogspot.com