रविवार, 26 फ़रवरी 2012

thought


its me today



गुरुवार, 23 फ़रवरी 2012

Mushrum










विचार




बाबा




मुस्कान





मुस्कान 

मंगलवार, 21 फ़रवरी 2012

महालक्ष्मी विष्णु 

कहा गया है दीपावली पर महालक्ष्मी का पूजन विष्णु या 
गणेश और सरस्वती के साथ किया जाना चाहिए 
गणेश जी का पूजन सर्वथा प्रथम किया जाता है अतः श्री गणेश सरस्वती और महालक्ष्मी का 
पूजन किया करते है 

श्री विष्णु सह पूजन किया जाना भी फलदायक है. 

Love



सोमवार, 20 फ़रवरी 2012

in search????


surkhab


flamingos

महाशिवरात्रि पर्व है शिव विवाह का

Story from shiv Puran



          पार्वती शिव शंकर के प्रेम में पड़ी तो वह यह नहीं जानती थी कि उन्हें कैसे पाया जाए. वे हर समय शिव के बारे में सोचती रहती थी

Parvati had fallen in love with Shiva and she didn't know what she could do about it. She thought of Shiva all the time.

          एक दिन नारद मुनि भ्रमण करते हुए आए तब पार्वती ने उनसे उपाय पूछा . नारद ने बताया कि शिव शंकर सिर्फ तपस्या से ही खुश होते है. बिना तपस्या के उन्हें नहीं पाया जा सकता यहाँ तक कि ब्रह्मा और अन्य देवता भी उन्हें पाने के लिए ताप करते हैं , तो आप तपस्या क्यों नहीं करती?

One day the sage Narada came and told her, Shiva is only pleased with tapasya. Without tapasya, even Brahma and the other gods do not get to see Shiva. Why don't you perform tapasya?

          पार्वती ने निर्णय लिया कि वे शंकर को पाने के लिए नारद के कहे अनुसार तपस्या करेंगी . उन्होंने अपने माता पिता से इस बारे में बात की. उनके पिता काफी अनमने भाव से उनकी यह मांग स्वीकार कर पाए. जबकि माँ मेनका को पार्वती की तपस्या की बात नहीं सुहाई मगर जिद के आगे वो भी सहमत हो गई

Parvati decided to do what Narada had asked her to. She asked her parents for permission. Her father agreed with alacrity. Although her mother Menaka was not at all keen that Parvati should perform difficult tapasya, she too eventually agreed.

          पार्वती ने अपने सभी आभूषण और कीमती वस्त्र दान कर दी और मृगछाल पहनकर ताप करने निकल पड़ी . यह स्थान गौरी शंकर के नाम से हिमालय में ख्यात है. तप बड़ा ही कठीन था सर्दी गर्मी बरसात सभी मौसम उन्होंने तप  करते हुए झेले सर्दी में वे पानी में बैठकर तपस्या करती . किसी जंगली जानवर से भी बिना डरे उन्होंने अपनी तपस्या जारी रखी. की जा रही यह तपस्या देखने को अनेक देवता वहां आये. भगवान् शिव को जाकर उन्होंने इस तपस्या के बारे में बताया . इस तरह की तपस्या किसी ने भी आज तक नहीं की होने की बात उन्होंने बतायी और भविष्य में भी कोई इस तरह की तपस्या कर सकेगा इसमें संदेह जताया अतः पार्वती का यह निवेदन स्वीकार करें महादेव
Parvati gave up her jewellery and handsome clothes. She wore deerskin instead. There is a peak in the Himalayas known as Gouriskikhara. It is there that Parvati went for her tapasy. The meditation was very difficult. During the monsson Parvati meditated while seated on the ground. In the winter she mediated under the water. Wild beats dared not harm her. All the gods and sages assembled to see this wonderful tapasya. The gods and the sages also began to pray to Shiva. Lord, can't you see that Parvati is performing difficult tapasya? They asked. No one has meditated like this before. No one will meditate like this in the future. Please grant her what she wants.

          शिव ने एक ब्राह्मण का वेश धरा और पार्वती के समक्ष प्रकट हो गए. बूढ़े ब्राह्मण का स्वागत कर उन्हें फल खिलाए और फूल अर्पण किए

Shiva adopted the form of an old brahmana (the first of the four classes) and appeared at Parvati's hermitage. Parvati welcomed the old man and worshipped him with flowers and fruits.
       
            ब्राम्हण वेश धारी शिव ने पूछा की तुम इतनी कठिन तपस्या क्यों कर रही हो


Why are you meditating? asked the brahmana. What is it that you want?
       
            मुझे शिव अपने पति के रूप में चाहिए - पार्वती ने कहा

I wish to have Shiva as a husband, replied Parvati.

           तुम वाकई मुर्ख हो ब्राह्मनवेश धरी शिव ने कहा, तुम किसी इंद्र आदि देवता से विवाह क्यों नहीं कर लेती? तीन आँखों और पांच मुह वाले मुर्ख किस्म के शिव जो सांपो की माला पहनता है, भूत प्रेत से घिरा रहता है वस्त्र तक नहीं पहनता, जंगल में रहता है, गले में हलाहल भरा रहता है जिसके से विवाह कर के तुम क्या चाहती हो? उसे भूल जाओ. कोइ नहीं जानता की उसके माँ पिता कौन है? अपनी जिंदगी बर्बाद मत करो.
 
You are indeed stupid. Said the brahmana. That is like giving up gold for a piece of glass or giving sandalwood for mud. Does anyone give up the water of the Ganga and drink water from a well instead? Marry one of the gods instead, go and marry Indra. Shiva is a stupid fellow. He has three eyes and five faces. His hair is matted and his body is smeared with ashes. He wears snakes as garlands. He is always accompanied by ghosts, He has no clothes and no wealth. No one knows who his parent are. He live sin the forst and his throat is blue with poison. I think you are making a big mistake. Forget about Shiva and don't waste your life.

           वचन सुन पार्वती गुस्से से भर गई और बोली तुम मुर्ख हो जो शिव के बारे में नहीं जानते वे सभी देवो के देव है. तुम उनका अपमान कर रहे हो मई वहां नहीं रह सकती जहां शिव का अपमान हो , मै जा रही हूँ.

The brahmana's words angered Parvati. It is you who are stupid, she said. You don't know a thing about Shiva. He is the lord of everthing. You have insulted Shiva  You are again going to say something nasty about Shiva. But before you can do that, let me go away. I shall not stay to hear Shiva insulted.

पार्वती जैसे ही जाने को हुई शिव ने अपना स्वरूप धरा और बोले कहाँ जा रही हो ? मई तो सोच रहा था की तुम मुझे पाना चाहती हो? तुमने मुझे नाराज कर दिया है, मै तुम्हे जाने से नहीं रोकूंगा ....

As Parfati was about to depart, Shiva adopted his own form and said, Where are you going? I thought that you were praying for me. You can't forsake me now. I am not going to let you go. Ask for a boon.

पार्वती बोली - मुझसे विवाह कर लो समाज की व्यवस्था अनुसार ....

Please marry me according to the prescribed rites, replied Parvati.

शिव ने सहर्ष स्वीकृति दे दी और उनका पार्वती से विवाह संपन्न हो गया .

Shiva agreed and Marry with Parvati.

बुधवार, 15 फ़रवरी 2012





valentine message


शनिवार, 11 फ़रवरी 2012

यहाँ से वहां तक ऐसे

Lion



आप इसे देख कर कोशिश मत करना. इसकी टीम की मादाए भोजन व्यवस्था कर लेती है. और आपकी ?????

शुक्रवार, 10 फ़रवरी 2012

मणिपूरी कलाकार की पेंटिंग



यह पेंटिंग मणिपूरी कलाकार ने बनाई है . 
प्रेम कथा को समर्पित कहानी के एक पात्र का चित्रांकन इसमें हुआ है . 
लड़की अपने प्रेमी से मिलाने के लिए जा रही है .
मलने जाने के लिए उसने जलावन इकट्ठा करने का बहाना बनाया है 
काबिले में प्रेम एक अपराध है और इसीलिए मिलने के लिए उसे बहाना बना कर जाना पड़ रहा है 
नागा काबिले से सम्बंधित कलाकार के अनुसार यह चित्र एक कहानी से मिली प्रेरणा के आधार पर बनाया गया है  


Valentine Week











गुरुवार, 9 फ़रवरी 2012

मयूर


मयूर 


चित्रकला प्रदर्शनी






कालिदास अकादमी 
द्वारा 
प्रस्तुत 
चित्रकला प्रदर्शनी के कुछ अंश