गुरुवार, 13 सितंबर 2012

वृद्धाश्रम प्रकल्प का भूमिपूजन संपन्न





वृद्धाश्रम प्रकल्प का भूमिपूजन
      धर्माचार्यो का काम सोए हुए लोगो को धर्म के प्रति जगाने का है . यहाँ आते वक्त जैसा मैंने सोचा था उससे अलग अहसास धर्म के प्रति जगे हुए लोगो के मध्य और सुरम्य प्रकृति के बीच आकर महसूस हो रहा है . समस्त जन कल्याणकारी योजनाओ की जानकारी मात्र से मन प्रसन्नता से भर गया है. मुझे जब कभी याद करेंगे इस जगह के लिए मै निशुल्क उपलब्ध रहूँगा उक्त बात इसरथुनी स्थित श्री सिद्धि विनायक धाम में पंचमुखी गणेश प्रतिमा की स्तुति पश्चात् भारतीय मनीषा के त्रिकाल चिन्तक एवं मुखर वेदज्ञ संत शिरोमणि १००८ मार्तंडमयी श्री चिदम्बरानंद जी महराज ने अपने उपदेश में कही .
            उपरोक्त जानकारी देते हुए श्री ॐ नारायण शर्मा ने बताया कि श्री सिद्धि विनायक ट्रस्ट द्वारा जनकल्याणकारी कार्यो का श्री गणेश वृद्धाश्रम के भूमिपूजन के साथ प्रारंभ हुआ है. इसरथुनी में जल प्रपात के समीप पंचमुखी गणेश की स्थापना गत वर्ष की गई है इसी के बाद अब तक बाउंड्री वाल बने जाकर बगीचे का निर्माण प्रगति पर है इस पर लगभग दो लाख रूपए पौधे खरीदने हेतु खर्च हो चुके है .
            आगामी १८ व् १९ सितम्बर को मंदिर पर कलश एवं द्वाज दंड की स्थापना समारोहपूर्वक  की जाएगी. कार्यक्रम में देव आव्हान स्थापन एवं यज्ञ अनुष्ठान का आयोजन हरियाली तीज से प्रारंभ होगा इच्छुक जोड़े यज्ञ में बैठने का सुअवसर प्राप्त कर सकते है. इसी तरह गणेश चतुर्थी के दिन ध्वजारोहण एवं कलशारोहण अनुष्ठान में सम्मिलित होकर धर्म लाभ लेवे उक्त अपील श्री सिद्धि विनायक ट्रस्ट के समस्त सदस्यों ने की है .
            आयोजित भूमि पूजन कार्यक्रम में संत श्री का आशीर्वाद सर्वश्री मोहन भट्ट , रमेश जोशी, महेश त्रिवेदी, कमलकिशोर वैरागी, मनोहर वैरागी, जयप्रकाश, श्रीमती ईशा श्रीमती कला सहित अनेक उपस्थित श्रद्धालुओ ने लिया. अभिनन्दन श्री राजेश घोटीकर, संचालन वृहन महाराष्ट्र मंडल के श्री दिलीप बर्वे तथा आभार श्री एस एस चौहान ने व्यक्त किया .

कोई टिप्पणी नहीं: