शुक्रवार, 7 जून 2013

पर्यावरण के सन्दर्भ में बर्ड्स वाचिंग ग्रुप की स्थापना कर जागरूकता अभियान की शुरुआत की।
शीतल तीर्थ एवं रोटरी शताब्दी वन के लिए पौधे उपलब्ध कराए। रोटरी को २००४ में  शताब्दी वन हेतु ७० बीघा शासकीय भूमि ५ वर्षो के लिए दिलाई।
हमारे जीवन में चिड़िया क्यों खास है ? इसके मुख्य बिन्दुओं पर धार्मिक जन धारणा के साथ वैज्ञानिक तथ्यों का समावेश सकारात्मक परिणति देनेवाला रहा।
तालाब बचने के लिए छायाचित्र प्रतियोगिता का आयोजन किया अब सज्जन मिल तालाब गहरीकरण किया जा रहा है।
रतलाम जिले के मानसेवी वन्य प्राणी अभिरक्षक के रूप में नियुक्ति रही और इस दौर में खरमोर जो एक लुप्तप्राय पक्षी है की सुरक्षा बंदोबस्त तथा योजनाओं के जरिये संख्या में बढ़ोतरी संभव हुई।

प्रिजर्व प्लेनेट अर्थ का अवार्ड - क्लब अध्यक्ष की हैसियत से
आउट स्टैंडिंग चैर्मंशिप का अवार्ड
यूनाइटेड नेशंस एनवायरोंमेंट प्रोग्राम का सहभागिता प्रमाण पत्र बर्ड्स वाचिंग ग्रुप को दिलाने का गौरव हासिल।

ब्लॉग साईट - http://birdswatchinggroupratlam.blogspot.com को भी देखें 

शनिवार, 1 जून 2013

black ibis


tithari